Don't Miss
Home / India / राजनीति, फिल्म और बिजनेस के माहिर खिलाड़ी थे अमर सिंह

राजनीति, फिल्म और बिजनेस के माहिर खिलाड़ी थे अमर सिंह

Amar Singh Death: राज्यसभा सांसद अमर सिंह का शनिवार को सिंगापुर के अस्पताल में निधन हो गया। भारतीय राजनीति में अमर सिंह का दबदबा किसी से छिपा नहीं था। अमर सिंह को राजनीति, फिल्म और बिजनस का माहिर खिलाड़ी कहा जाता था।

Edited By Sujeet Upadhyay | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

NBT
हाइलाइट्स

  • राज्यसभा सांसद अमर सिंह का शनिवार को सिंगापुर के अस्पताल में निधन
  • अमर सिंह ने यूपी से शुरू किया था अपना सियासी सफर
  • किसी समय मुलायम सिंह के दाहिने हाथ माने जाते थे अमर सिंह
  • अमर सिंह का झुकाव बीजेपी की तरफ बढ़ा तो फिर पहुंचे थे राज्यसभा

लखनऊ

राज्यसभा सांसद अमर सिंह का शनिवार को सिंगापुर के अस्पताल में निधन हो गया। भारतीय राजनीति में अमर सिंह का दबदबा किसी से छिपा नहीं था। अमर सिंह के बारे में यह कहा जाता था कि वह राजनीति, फिल्म और बिजनस के माहिर खिलाड़ी थे। समाजवादी पार्टी में रहते अमर सिंह ने इसे सिद्ध भी किया। कई बार ऐसे मौके आए जब पार्टी को उन्होंने अपने राजनीतिक समझदारी से परेशानी से उबारा।

अमर सिंह ने अपना सियासी सफर यूपी से शुरू किया। किसी समय अमर सिंह मुलायम सिंह के दाहिने हाथ माने जाते थे। साल 2010 में मुलायम सिंह यादव ने भी इनको पार्टी से निकाल दिया था, बाद में अमर सिंह ने राजनैतिक जीवन से कुछ समय के लिए संन्यास भी ले लिया था। लेकिन साल 2016 में इनकी फिर से समाजवादी पार्टी में वापसी हुई थी। हालांकि बाद में वह समाजवादियों के ‘दुश्मन’ बनकर बैठे। इसके बाद अमर सिंह का झुकाव बीजेपी की तरफ बढ़ा, जिसकी बदौलत वो राज्यसभा की कुर्सी तक पहुंचने में कामयाब रहे।
बॉलिवुड और सत्ता के ‘लाडले’ अमर सिंह की मुलायम सिंह से दोस्ती की कहानी

एसपी से राज्यसभा के सांसद चुने गए थ अमर सिंह

अमर सिंह के बारे में कहा जाता था कि अमर सिंह ने साल 1996 में देश के तत्कालीन रक्षामंत्री मुलायम सिंह से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा था। कहा जाता है कि वो पहले भी मुलायम सिंह से मिल चुके थे लेकिन इस मुलाकात के बाद उनका रुतबा बढ़ गया था और मुलायम सिंह ने उन्हें समाजवादी पार्टी का महासचिव बनाने का फैसला किया। अमर सिंह एसपी से राज्यसभा के सांसद चुने गए। समय के साथ ही एसपी में अखिलेश यादव का वर्चस्व बढ़ा और पारिवारिक विवाद के बाद अमर सिंह को पार्टी से निकाल दिया गया।

नहीं रहे राज्यसभा सांसद अमर सिंह, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

बीमारी के दौरान बच्चन परिवार से दूरी का किया था जिक्र

जया बच्चन को राजनीति में लाने का काम अमर सिंह ने ही किया था लेकिन पार्टी से निष्कासन के समय बच्चन परिवार से इनकी दूरियां बढ़ गईं। हालांकि बीमारी की अवस्था में अमर सिंह ने बच्चन परिवार से दूरी को लेकर अपने मलाल का जिक्र किया था। कहा जाता है कि अमिताभ बच्चन के बुरे वक्त में अमर सिहं ने उनका साथ खूब निभाया था।

यहां से शुरू हुई अमर और अमिताभ की दोस्ती

  • यहां से शुरू हुई अमर और अमिताभ की दोस्ती

    90 के दशक में अमिताभ बच्चन अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे थे। एक के बाद एक लगातार फ्लॉप फिल्मों और अपनी कंपनी एबीसीएल के डूबने के चलते उन्हें लगातार आयकर विभाग के नोटिस मिल रहे थे। उस वक्त महज 4 करोड़ रुपये न चुका पाने के चलते उनके बंगले के बिकने और उनके दिवालिया होने की नौबत तक आ गई थी। तब अमर सिंह ने दोस्ती का हाथ बढ़ाया और अमिताभ बच्चन को कर्जे से उबारा। फिर यह दोस्ती लंबी चली और बॉलिवुड से लेकर राजनीतिक गलियारों तक में चर्चा का विषय रही।

  • गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं अमर सिंह

    अमर सिंह ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘आज मेरे पिताजी की पुण्यतिथि और मुझे अमिताभ बच्चन जी का मेसेज मिला। जीवन के ऐसे मोड़ पर, जब मैं जिंदगी और मौत से जूझ रहा हूं, मैं अमित जी और बच्चन परिवार को लेकर कहे गए अपने शब्दों के लिए माफी मांगता हूं। ईश्वर उन सब पर अपनी कृपा बनाए रखे।’

  • ​जया बच्चन को राजनीति में लाए, बच्चन परिवार से बढ़ी करीबी

    जया बच्चन समाजवादी पार्टी की चार बार की राज्यसभा सांसद हैं। उन्हें राजनीति में लाने का श्रेय अमर सिंह को ही दिया जाता है। कहा यह भी जाता है कि उस वक्त अमिताभ ने जया बच्चन के राजनीति में जाने का विरोध भी किया था, मगर अमर सिंह ने उन्हें राजी कर लिया। अमर सिंह ने जया बच्चन के लिए कइयों से राजनीतिक दुश्मनी मोल ली। ऑफिस ऑफ प्रॉफिट वाले मामले में जब जया बच्चन को इस्तीफा देना पड़ा, तब अमर सिंह ने सोनिया गांधी के नैशनल अडवाइजरी काउंसिल की सदस्यता के मुद्दे को उछाला, जिसके चलते सोनिया गांधी को भी इस्तीफा देना पड़ा।

  • ​दोस्ती में यहां से पड़ने लगी दरार

    2010 में जब अमर सिंह को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते समाजवादी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया, उस वक्त उन्होंने जया बच्चन से भी पार्टी छोड़ने के लिए कहा। हालांकि जया बच्चन अपना राजनीतिक करियर दांव पर लगाने को राजी नहीं हुईं। कहा जाता है कि यहीं से बच्चन परिवार और अमर सिंह के रिश्तों के बीच दरार पड़नी शुरू हो गई।

  • ​अमर सिंह के जहरीले बयानों ने आग में घी का किया काम

    अमर सिंह और अमिताभ बच्चन के बीच दूरी बढ़ाने में काफी भूमिका अमर सिंह के विवादित बयानों की भी रही। 2017 में अमर सिंह ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘मैं अमिताभ बच्चन से जब मिला था, उससे काफी पहले से जया बच्चन और अमिताभ अलग-अलग रह रहे थे। एक प्रतीक्षा में रहता, तो दूसरा अन्य बंगले जनक में रह रहा था। ऐश्वर्या राय बच्चन और जया बच्चन के बीच भी काफी मतभेद की खबरें हैं, हालांकि इसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं।’ अमर सिंह ने यह भी कहा था कि अमिताभ ही थे जिन्होंने मुझे जया बच्चन को राजनीति में लाने को लेकर आगाह किया था।

साल 2016 में एसपी से फिर निकाले गए थे अमर सिंह

समाजवादी पार्टी में चल रहे कलह के दौरान साल 2016 में अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच खींचतान हुई। इसके बाद रामगोपाल ने इशारों में अमर सिंह को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया था। इस दौरान पूरे विवाद से मुलायम ने खुद को दूर रखा था और बाद में अमर सिंह को फिर से पार्टी से निकाल दिया गया था।


जब अमर सिंह ने विरोधियों से कहा- टाइगर अभी जिंदा हैजब अमर सिंह ने विरोधियों से कहा- टाइगर अभी जिंदा है

अनिल अंबानी के मित्र थे अमर सिंह

साल 2002 में धीरूभाई अंबानी का निधन हुआ तो 80 हजार करोड़ के टर्नओवर वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज के बंटवारे का विवाद मुकेश और अनिल अंबानी के बीच हो गया। क्योंकि इसको लेकर कोई वसीयत नहीं लिखी गई थी। अनिल अंबानी की अमर सिंह से गहरी दोस्ती थी। इसके कारण तत्कालीन एसपी सुप्रीमो मुलायम सिंह के करीबी भी रहे। इस कारण मुकेश अंबानी अपने छोटे भाई अनिल अंबानी से नाराज भी हुए थे। इसके बाद दोनों के बीच दूरी और बढ़ गई थी। अमर सिंह की बदौलत ही समाजवादी पार्टी ने अनिल अंबानी को राज्यसभा भेजने का ऑफर दिया था, हालांकि उन्होंने मना कर दिया था।

(देश-दुनिया और आपके शहर की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट)

Web Title amar singh death: read amar singh political career and other details(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें


Source link

About news4me

x

Check Also

देश में कोरोना से मौतों की संख्या में आई उछाल

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 10 Aug 2020, 08:30:47 AM IST कोविड-19 से निपटने ...